30+ देवर भाभी का रिश्ता शायरी" {Devar Bhabhi ki Shayari 2021}

 "देवर भाभी का रिश्ता शायरी" {Devar Bhabhi ki Shayari 2021} देवर भाभी के रिश्ते को कोई नही समझ सकता, देवर भाभी का रिश्ता भाई बहन जैसा होता हैं, इस रिश्ते में कई लडाइयां भी होती हैं लेकिन भाभी और देवर के रिश्ते में प्यार भी होता हैं. कुछ देवर अपनी भाभी को माँ के सम्मान रखते हैं वो भाभी को भाभीमाँ कहकर भी पुकारते हैं क्योकि उनकी भाभी माँ के सम्मान ख्याल रखती हैं जैसे कि टाइम पर खाना पीना, कपडे थोना, और भी छोटा मोटा काम जो भाभी अपने देवर के काम करती हैं जो काम माँ करती अपने बेटे के लिए वोही काम भाभी करती हैं इसलिए भाभी को भाभीमाँ कहना कोई गलत नही हैं.

भाभी को भाभीमाँ कहना कोई गलत नही हैं.

लेकिन कुछ चु** देवर होते हैं जो अपनी भाभीमाँ को गलत नज़रो से दिखते हैं उन्हें गलत समझे हैं ऐसे देवर से दूर रहना ही बेहतर होता हैं, क्योकि ऐसे देवर पति-पत्नी के रिश्तो को तोड़ सकते हैं. 

देवर भाभी का रिश्ता शायरी {Devar Bhabhi ki Shayari}

{1} मेरी आँखों ने देखा हैं ये नज़ारा, कर दिया तूने मेरा घायल दिल बेचारा.

Meri Aankho Ne Dekha Hai Ye Nazaara, Kar Diya Tune mera Ghayal Dil Bechara.


{2} जैसे पान खाने से रच जाते हैं होठ, इसी तरह भाभी तुम करती हो देवर पर चोट.
Devar Bhabhi ki Shayari

Jaise Paan Khane se Rach Jate hain Hoth, Esi Tarah Bhabhi Tum Karti Ho Devar Par Chot.


{3} छोड़ दे देवर इनती बढाई न अच्छी, खाना रखा हैं तैयार जाओ खा लो जल्दी.

Chod De Devar Itani Badaai N Achchi, Khana rkha hai Taiyar Jao kha lo Jaldi.


{4} हमको न दिखाया करो नखरा, जल्दी से अपने collage जाया करो.

Humko N Dikhaya karo Nakhra, Jaldi se Apne Collage Jaya Karo.


{5} भाभी के हाथ में चांदी का छल्ला, मैं तेरा देवर हूँ तू मुझसे न कर पल्ला.
देवर भाभी का रिश्ता शायरी

Bhabhi Ke Hath me Chandi Ka Challa, Main Tera Devar Hun Tu Mujhse N kar Palla.

{6} जाती हो रोज बन ठन के किस काम के लिए, पहनती हो बेलबाटम लडको को पटाने के लिए.

Jati ho Roz Ban Than ke Kis Kaam ke liye, Pahnti Ho BalBaatam Ladko Ko Patane ke Liye.


{7} चुराती हो आँखे हमसे किस बात पर, हमको मज़ा आता हैं तेरी अदाओं के उपर.

Churati Ho Aankhe Humse Kis baat par, Humko Maza aata hai Teri Adaao Ke Uper.


{8} देवर हूँ भाभी तेरा हर वक्त ताबेदार हूँ, भईया से ज्यादा मैं तेरे पर कुर्बान हूँ.

Devar hun Bhabhi Tera Har Vakt Tabedaar Hun, Bhaiya se Jyada Main Tere Par Kurbaan Hun.


{9} जाता हूँ मैं चमन में दिल बहलाने के लिए, आती नही हो भाभी तुम रात बिताने के लिए.

Jata hun Main Chamn me Dil Bahlane ke liye, Aati Nhi Ho Bhabhi Tum Raat Bitane ke liye.


{10} भूख लग रही जोर से सुन भाभी बात, चटपट-चटपट रोटी करदे कह रहा देवर खास.

Bhukh Lag Rhi Jor se Sun Bhabhi Baat, Chatpat-Chatpat Roti Karde Kah rha Devar Khas.


{11} घूर-घूर कर क्या देखो भाभी मैं डर जाऊंगा, पास बुलाओ तो कभी ना आऊंगा.

Ghoor-Ghoor kar kya dekho Bhabhi Main Dar Jaunga, Paas Bulaao To Kabhi Naa Aaunga.

{12} भाभी पिलादे मुझको आज बना के कॉफी, प्यार करने के लिए  आधा घंटा ही काफी.

Bhabhi Pilade Mujhko Aaj Bana ke Cofy, Pyaar Karne ke liye Aadha Ghanta hi Kaafi.


{13} तुम्हारा ये नखरा हम नही झेलेंगे, तुमसे दूर ही अच्छे हैं अकेले ही रह लेंगे.

Tumhara Ye Nakhra Hum Nhi Jhelenge, Tumse Door Hi Achche hai Akele Hi Rah Lenge.


{14} भाभी क्यों बात - बात पर नाराज होती हो, हम अपनी हरकतों से आते हैं अब बाज़.

Bhabhi kyo Baat-Baat par Nazaj Hoti ho, Hum Apni Harkato Se Aate hain Ab Baaz.


{15} चल मेरी भाभी मोरनी की चाल, देखके आना अपनी दौरानी का हाल.

Chal Meri Bhabhi Morni Kee Chaal, Dekhke Aana Apni Douhrani Ka Haal.


{16} खाती हो पान चबाती हो छालियाँ, हमको कुंवारा समझ देती हो गालियाँ.

Khati Ho Paan Chabaati ho Chaliya, Humko Kunvaara Samjh Deti Ho Gaaliyan.


{17} बंधेगा सर पे मेरे सेहरा अब दूल्हा बनूँगा, ले आऊंगा एक रोज़ फिर सैर दुनिया की करूँगा.

Bandhega Sar pe Sehra Ab Dulha Banunga, Le Aaunga Ek Roz Feer Sair Duniya kee karunga.


{18} शादी तुम्हारी हो गई क्यों करते हो मखोल, अब नही छुटे देवर तेरी मेरी मखोल.

Shadi Tumhari Ho gai Kyo Karte ho Makhol, Ab Nhi Chute Devar Teri Meri Mkhol.


"दर्पण रोज़ देखू दर्पण ख़राब हैं, भाई मेरा अच्छा हैं भाभी ही ख़राब हैं."

{19} Darpan Roz dekhu Darpan Hi Kharab Hain, Bhai Mera Achcha hain Bhabhi Hi Kharab hai.


{20} कर ली हैं मैंने तुझ से मुहब्बत, खाता हूँ मैं कसम, न दूंगा कभी न दूंगा तेरे जलवो की कसम.

Kar Lee Hain Maine Tujh se Mohbbat Khata hun Main Kasam, N Dunga Kabhi tere jalvo kee kasam.


{21} शादी हो गई मेरी अब न मिल सकेंगे, भाभी तेरे वास्ते अब भाई ही रहेंगे.
Devar Bhabhi

Shadi Ho gai Meri Ab n Mil Sakenge, Bhabhi Tere Vaste Ab Bhai Hi Rahenge.


{22} एक बार मुस्करा दो भाभी न इनती बेरुखी बदलो, अपने देवर को आज हुश्न की झलक दिखा दो.

Ek baar Muskra do Bhabhi N Inti Berukhi Badlo, Apne Devar ko Aaj Hushn Kee Jhalk Dikha Do.


{23} तुम्हारी तिरछी नजरो ने दीवाना बनाया भाभी, पिला करके शराब गले से लगा ले भाभी.

Tumhari Tirchi Nazro ne Diwana Banaya Bhabhi, Pila karke Sharab Gale se Laga Le Bhabhi. 


{24} नजरो से कहती हो आँखे कमाल करती हैं, प्यार भाई से न करके गैरो से करती हैं.
देवर भाभी

Nazro se kahti ho aankhe kamal Karti hain, Pyar Bhai  se N Karke Gairo se Karti hain.



{25} जवानी के नशे में हमेशा दीवाने रहते हो तुम, भूल से कोई दिल दे दे तो बदनाम हमें करती हो तुम.

Jawani Ke Nashe me Hamesha Diwane Rahte Ho Tum, Bhool Se koi Dil De de To Badnam Hame Karti Ho Tum.

{26} जिस आँखों में तूने लगाया हैं काजल, ये दीवानों को कर देगा पागल.

Jis Aankho me Tune Lagaya hain Kazal, Ye Diwano Ko Kar dega Pagal


{27} करती हो प्यार का सौदा तो मेरी कसम ले लो, लगाती हो अपने गले से तो मेरी जान भी ले लो.

Karti ho Pyar Ka Souda to meri Kasam le lo, Lagati ho apne gale se to meri jaan bhi le lo,



{28} क्या कहूँ अपने दिल की तुझसे देवर, रोज़ देखती हूँ आ जाया करो उपर.

Kya Kahun Apne Dil Kee Tujhse Devar, Roz Dekhti hun Aa jaya karo Uper.


{29} धानी चुनरिया ओढ़ी हैं भाभी तूने, वादा किया रात का निभाया तूने.

Dhani Chunriya Odhi hai Bhabhi Tune, Vaada Kiya Raat Ka Nibhaya Tune.



{30} भाभी मान लो कहना ये संगार करना छोड़ दो, हो जाओगी बदनाम ये आँख लगाना छोड़ दो.
30+ देवर भाभी का रिश्ता शायरी

Bhabhi Maan Lo Kahna Ye Sangaar Karna Chod Do, Ho Jaogi Badnam Ye Aankh Lagana Chod Do.

0/Post a Comment/Comments

और नया पुराने

ये भी देखे 👇👇

ये भी देखे 👇👇